Unhe Jaane Ki Ijaazat De Di

पलकों की नमी में छुपा कर सपनो को,
हमने उन्हें जाने की इजाज़त दे दी,
हम टूट कर बिखर गए टुकड़ों में,
और उन्हें मुस्कुराने की इजाज़त दे दी…

Share Dost App
Comment Please...