Tag: Satya Ko Kahne Ke Liye Kisi

Irade Majbut Ho To Manjil Mushkil Nahi

सत्य को कहने के लिए किसी,
शपथ की जरुरत नहीं होती..

नदियों को बहने के लिए किसी,
पथ की जरुरत नहीं होती..

जो बढ़ते है ज़माने में,
अपने मजबूत इरादों के बल,

उन्हें अपनी मंजिल पाने के लिए,
किसी रथ की जरुरत नहीं होती…

शुभ प्रभात! आपका दिन मंगलमय हो!!