Tag: Raftar Jindagi Ki Kuch

Dost Koi Piche Chhut Na Jaye

Dost Koi Piche Chhut Na Jaye

रफ्तार जिन्दगी की कुछ यूँ बनाये रखिये!
दुश्मन कोई आगे निकल ना पाये,
और..
दोस्त कोई पीछे छूट ना जाये!!