Tag: Raat Nahi Khwab Badalta Hai

Vakt Jarur Badalta Hai

Vakt Jarur Badalta Hai

रात नही ख्वाब बदलता है,
मंजिल नही कारवा बदलता है,
जजबा रखो जितने का क्योंकी,
किस्मत बदले ना बदले,
पर वक्त जरूर बदलता है…