Tag: Kayi Baar Bina Galti Ke Bhi Galti Maan Lete Hai Hum

Koi Apna Hamse Ruth Na Jaye

कई बार बिना गलती के भी गलती मान लेते हैं हम,
क्योंकी,
डर लगता है कहीं कोई अपना हमसे रुठ ना जाए…