Tag: हर ज़ख़्म किसी ठोकर की मेहरबानी है

Ye Dard Bhi Kisi Ki Aakhri Nishani Hai

हर ज़ख़्म किसी ठोकर की मेहरबानी है,
मेरी ज़िन्दगी एक किस्सा एक कहानी है,
मिटा देते इस दर्द को दिल से,
पर ये दर्द भी तो किसी की आखरी निशानी है…!!

Share Dost App