Tag: राजनीती को समर्पित

Rajniti Ko Samarpit Joke

राजनीती को समर्पित!
एक कहावत है,
पाँचो उंगलिया बराबर नहीं होती..
पर एक सच और है,
खाते समय सब एक हो जाती है…!!!