Tag: मेरी मोहब्बत बेजुबाँ होती रही

Ek Barish Mere Saath Roti Rahi

मेरी मोहब्बत बेजुबाँ होती रही,
दिल की धड़कने अपना वजूद खोती रही,
कोई नहीं आया मेरे दुःख में करीब,
एक बारिश थी जो मेरे साथ रोती रही…