Tag: दरिया की देहलीज़ पे बैठी सोच रही है

Aur Kitna Waqt Lagega Sare Khwaab Bahane Mein

दरिया की देहलीज़ पे बैठी सोच रही है
ये आँखें..!!
कितना वक़्त लगेगा आखिर
सारे ख्वाब बहने में..!!

Share Dost App