Tag: तड़पना भी ज़िन्दगी है और

Chupke Se Rona Bhi Zindagi Hai

तड़पना भी ज़िन्दगी है और,
ग़मों को सहना भी ज़िन्दगी है,
यु तो रहती है हर वक्त होंटो पे मुस्कराहट,
पर शायद चुपके से रोना भी ज़िंदगी है…