Tag: तुम्हारी आँखों से काश कोई इशारा तो होता

Tumhari Ankho Se Kash Koi Ishara To Hota

तुम्हारी आँखों से काश कोई इशारा तो होता
कुछ मेरे जीने का सहारा तो होता
तोड़ देते हम हर रसम ज़माने की
एक बार ही सही तुमने पुकारा तो होता…