Tag: किसी भी मनुष्य की वर्तमान

Kisi Manushya Ka Uphas Mat Kijiye

किसी भी मनुष्य की वर्तमान
स्थिति देखकर उसके भविष्य
का उपहास मत उड़ाए क्योंकि
काल में इतनी शक्ति है की वो
एक साधारण से कोयले को भी
धीरे-धीरे हिरे में बदल देता है…