Is Tanhai Se Mohabbat Si Ho Gayi Hai

अब इंतेजार एक आदत सी हो गयी है,
खामोशी से एक अजब सी चाहत सी हो गयी है,
ना शिकवा ना शिकायत करने की जरुरत है,
क्योंकी इस तन्हाई से मोहब्बत सी हो गयी है…

Comment Please...