Humdard Nahi Milta

कैसे अपना बनाए, कोई इस काबील नही मिलता,
यहा पत्थर बहुत मिलते है, पर दिल नही मिलता,
ये दुनिया फरेबों की बस्ती है ए दोस्त,
यहा सिर्फ दर्द मिलते है, हमदर्द नही मिलता…

Comment Please...