Dosti Ka Ehsas Dil Se Kam Na Karna

याद आये तो आँखे बंद ना करना,
हम SMS ना करे तो गम ना करना,
गलती हो हमसे तो हमे माफ करना,
पर दोस्त ‘दोस्ती’ का एहसास दिल से कम ना करना…

Comment Please...