«

»

Fark To Apni-Apni Soch Ka Hai

फर्क तो अपनी-अपनी सोच का है,
वरना दोस्ती भी मोहब्बत से कम नहीं होती…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *